DropDown

Drop Down MenusCSS Drop Down MenuPure CSS Dropdown Menu

Labels

Saturday, August 1, 2015

पवित्र विचार-प्रवाह ही जीवन है तथा विचार-प्रवाह का विघटन ही मत्यु है।
 -स्वामी रामदेव



विचारों की अपवित्रता ही हिंसा, अपराध, क्रूरता, शोषण, अन्याय, अधर्म और भ्रष्टाचार का कारण है।
 -स्वामी रामदेव



विचारों की पवित्रता ही नैतिकता है।
 -स्वामी रामदेव



विचार ही सम्पूर्ण खुशियों का आधार है।
 -स्वामी रामदेव



सदविचार ही सद्व्यवहार का मूल है।
 -स्वामी रामदेव